PMGDISHA (प्रधान मंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान)

प्रधान मंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान (पीएमजीदिशा) के अंतर्गत योजना का प्रशिक्षण केंद्र बनाने के लिए नियम:

1. फ्रेंचाइजी शुल्क : मुफ्त

2. भौतिक बुनियादी सुविधा :-
क) 200 वर्ग फुट का न्यूनतम क्षेत्र ।
ख) एक कक्षा, 5-20 छात्रो के लिए ।
ग) संबंधित पंचायत सीमाओं के भीतर स्थित ।

3. कोर्स अवधि : 20 घंटे अथवा 10 से 30 दिन ।

4. तकनीकी संरचना :-
क) वास्तविक / लाइसेंस प्राप्त सॉफ्टवेयर के साथ न्यूनतम 3-5 ऑपरेशनल कंप्यूटर (लैपटॉप या पीसी)।
ख) सभी कंप्यूटरों को स्थानीय नेटवर्क से जोड़ा जाना चाहिए।
ग) प्रत्येक कंप्यूटर में एक उच्च-रिज़ॉल्यूशन वेब कैमरा हो ।
घ) 256 केबीपीएस की न्यूनतम गति के साथ विश्वसनीय इंटरनेट कनेक्टिविटी ।
ड) एक प्रिंटर और स्कैनर ।
च) 3-5 टैबलेट / मोबाइल फ़ोन ।
छ) प्रत्येक कंप्यूटर में पीएमयू द्वारा निर्धारित बॉयोमीट्रिक डिवाइस।

5. शिक्षक :
क) प्रत्येक प्रशिक्षण केंद्र में कम से कम एक शिक्षक होगा, जिसमें निम्न शैक्षिक योग्यताएं होंगी:
– एनआईआईएलआईटी के बीसीसी या इसके समकक्ष

6. परीक्षा नियंत्रक :
क) प्रत्येक प्रशिक्षण केंद्र में परीक्षा एक नियंत्रक होगा ।

7. लक्ष्य :-
क) एक परिवार के मुखिया, पति या पत्नी, बच्चों और ऐसे सभी घरों में जहां परिवार के कोई भी सदस्य डिजिटल साक्षर नहीं है, उन्हें इस योजना के अंतर्गत पात्र घर माना जाएगा।

8. विद्यार्थी का प्रवेश मानदंड :-
i) लाभार्थी को डिजिटली जानकारी नही होनी चाहिए I
ii) प्रति परिवार के लिए केवल एक व्यक्ति प्रशिक्षण के लिए विचार किया जाएगा I
iii) आयु सीमा : 14 – 60 वर्ष I

9. विद्यार्थी प्रवेश की प्राथमिकता :-

क) गैर स्मार्टफोन उपयोगकर्ता, अंत्योदय घर, कॉलेज ड्रॉप-आउट I
ख) 9 वीं से 12 वीं की कक्षा के छात्रों के डिजिटल शिक्षकों की अनुपलब्धता, कंप्यूटर / आईसीटी प्रशिक्षण की सुविधा उनके स्कूलों में उपलब्ध नहीं है I
ग) अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, बीपीएल, महिलाओं, अलग-अलग व्यक्तियों और अल्पसंख्यकों को प्राथमिकता दी जाएगी I
घ) अनुसूचित जाति (अनुसूचित जाति), अनुसूचित जनजाति (एसटी), नीचे गरीबी रेखा (बीपीएल), महिलाओं, अलग-अलग अल्पसंख्यकों, आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं, मान्यता प्राप्त सामाजिक स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं (आशा), अधिकृत राशन के सौदागर प्रमुख लाभार्थियों के रूप में लक्षित हैैं I